दूषित भोजन हमारे स्वास्थ्य के लिए खतरनाक, कैसे बचें?

ByMamta Choudhary

Dec 18, 2022 , , , , , , , , , , , , , , , ,
दूषित भोजन हमारे स्वास्थ्य के लिए खतरनाक कैसे बचें?

दूषित भोजन की वजह से अमेरिका में हर साल 480 करोड़ लोग बीमार पड़ जाते हैं दूषित भोजन से किडनी फेल से लेकर गर्भपात तक हो सकता है क्योंकि अमेरिकी लोग जूठे बर्तन दो दिन तक सिंक में रखते हैं बच्चे और बुड्ढों पर इसका ज्यादा असर पड़ता है दूषित भोजन करने से बहुत सी बीमारियां हमें पकड़ सकती हैं उनसे बचने की जरूरत है। बैक्टीरिया, वायरस, पैरासाइट्स का अटैक सबसे ज्यादा होता है जूठे बर्तनों को लंबे समय तक अपने किचन में मत रखिए क्योंकि सबसे ज्यादा बैक्टीरिया यहीं पनपते हैं।

क्या यूरोपियन लाइफस्टाइल से भारतीय प्रभावित हैं

कुछ समय से आजकल यूरोपियन लाइफस्टाइल भारत के लोग भी अपनाने लगे हैं वह भी जूठे बर्तनों को सिंक में छोड़ने लगे हैं लेकिन यह बहुत ही गलत है इस आदत को बदलने की जरूरत है भारत में सदियों पुरानी कहावत है जूठे बर्तन कंगाली लाते हैं कंगाली का तो पता नहीं लेकिन जूठे बर्तन बीमारी जरूर लाते हैं। इसलिए लोग सोने से पहले रात के जूठे बर्तन सिंक में नहीं छोड़ते हालांकि शहरों में बर्तन धोकर सोने की परंपरा टूट रही है रात के जूठे बर्तन सुबह धोए जाने लगे हैं।

दूषित भोजन को लेकर सर्वे क्या कहते हैं

एक सर्वे के अनुसार अमेरिकी औसतन 2 दिन तक जूठे बर्तन सिंक में रखते हैं आधे लोग तो हफ्ते में सिर्फ तीन बार डिशवॉशर चलाते हैं यानी जब तक उनके पास खाने के लिए बर्तन होते हैं वह बर्तन धोते ही नहीं यह सारे जूठे बर्तन सिंक में पड़े रहते हैं। वन पोल के सर्वे में यह बात भी सामने आई कि आर्थिक रूप से समृद्ध घरों में जूठे बर्तन ज्यादा समय तक सिंक में पड़े रहते हैं इस सर्वे में यह भी पता चला कि एक अमेरिकी ने अपने फ्रीजर में पिछले साल औसतन पांच चीजें रखी और साल भर में उनका कभी इस्तेमाल ही नहीं किया u.s. सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के अनुसार अमेरिका में दूषित भोजन की वजह से हर साल 480 करोड़ लोग बीमार पड़ते हैं और ऐसे ही सर्वे जब भारत में करवाए गए तो भारत में भी यह सामने आया कि जो अति संपन्न और संपन्न घर हैं उनमें जूठे बर्तन सिंक में छोड़े जाते हैं जो कि बीमारियों का कारण बनते हैं।

 जूठे बर्तन बीमारी जरूर लाते हैं।
जूठे बर्तन बीमारी जरूर लाते हैं।

दूषित खाना खाने से कौन से बैक्टीरियल अटैक होते हैं

सिंक में देर तक जूठे बर्तन पड़े रहने पर सालमोनेला लिस्टीरीया और ई. कोली बैक्टीरिया पनपते हैं एन एस एफ इंटरनेशनल की सीनियर प्रोजेक्ट मैनेजर लीजा याक्स कहती है यह बैक्टीरिया स्वस्थ लोगों पर ज्यादा प्रभावी नहीं होते लेकिन जो पहले से बीमार है या फिर जिनकी इम्यून शक्ति कमजोर है वहीं बैक्टीरिया से बीमार पड़ जाते हैं ऐसे लोगों को उल्टी, पेट दर्द या डायरिया हो सकता है। ज्यादा गंभीर स्थिति होने पर गर्भपात और किडनी फेल तक हो सकती है इसलिए जब भी घर में बच्चे, बूढ़े, गर्भवती महिला हो तो किचन को हर समय साफ रखें क्योंकि यह बैक्टीरिया सबसे ज्यादा यही बीमार बनाता है अपने बर्तनों में लगे रबड़ की सफाई अच्छे से करें क्योंकि एम एस एस इंटरनेशनल को सिंक, ब्लेंडर, गैसकेट और फ्रिज के वेजिटेबल बॉक्स के बाद सबसे ज्यादा बैक्टीरिया यही मिले हैं।

बोटुलिनम एक शक्तिशाली जीवाणु है जो आपको लकवा ग्रस्त कर सकता है इसलिए जरूरी है कि आप भोजन को दूषित ना होने दें तथा जूठे बर्तनों को आप किचन में ज्यादा देर ना रखें यह बात सर्वे से पता चल चुकी है कि जूठे बर्तनों को ज्यादा देर तक में रखने से बहुत से बैक्टीरिया पनप जाते हैं जो कई बीमारियों का कारण बनते हैं।

क्या-क्या हो सकता है दूषित भोजन खाने से

बैक्टीरियल मेनिनजाइटिस बैक्टीरिया से होने वाली इस बीमारी में हमारे ब्रेन और रीड की हड्डी को ढकने वाली एक परत मेनिनजेस में सूजन आ जाती है यदि दूषित भोजन का सेवन गर्भवती स्त्री करे तो उसके गर्भपात होने की संभावना बहुत बढ़ जाती है। लिस्टेरिया मोनोसाइटोजेनेस नामक बैक्टीरिया की वजह से गर्भपात हो जाता है जो दूषित भोजन में पाया जाता है।

कुछ बैक्टीरिया ऐसे भी हैं जो किडनी को खराब कर देते हैं यहां तक की आंखों को भी गंभीर नुकसान पहुंचा सकते हैं जिससे आंखों की रोशनी जाने की संभावना भी बढ़ जाती है।

आप यकीन नहीं कर सकेंगे कि जूठे बर्तनों को सिंक में छोड़ने से उनमें इतने बैक्टीरिया पनप जाते हैं कि यदि माइक्रोस्कोप से देखें तो हम उनको हाथ भी न लगाएं बर्तन धोने के बाद भी यह बैक्टीरिया पूरी तरह से नहीं हटते और बहुत सी बीमारियों का कारण बनते जाते हैं।

दूषित भोजन से क्या क्या रोग हो सकते हैं

दूषित भोजन करने से डायरिया और उल्टी की समस्या बहुत आम बात है पेट में मरोड़, जोड़ों में दर्द ,आलस, थकान, सांस की बीमारी होती है भोजन में बैक्टीरिया फैलने की शुरुआत एक घंटे से लेकर पूरे एक हफ्ते तक हो सकती है।

भोजन और पानी दूषित होना एक बड़ा खतरा है दुनिया में दूषित भोजन की वजह से होने वाली बीमारियों को स्वास्थ्य, सामाजिक तथा आर्थिक विकास के लिए खतरा माना गया है इससे बचाव के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जागरूकता फैलाई जा रही है पर सबसे बड़ा दुर्भाग्य यह है कि आज भी भारत में यह मुद्दा एक तरफ रख दिया गया है भारत में भोजन और पानी के दूषित होने के सिलसिले को प्रभावी तरीके से कम करना चाहिए और इसको लेकर लोगों में जागरूकता फैलानी चाहिए जिससे लोग समझ सके कि जूठे बर्तन सिंक में ना छोड़े और खाने को लंबे टाइम रखकर ना खाएं।

दूषित भोजन से क्या क्या रोग हो सकते हैं
दूषित भोजन से क्या क्या रोग हो सकते हैं

भोजन दूषित ना हो इसके लिए भोजन को कितने समय में खाना चाहिए

जब भी भोजन किचन में बनता है तो एक बात का जरूर ध्यान दें कि भोजन को अच्छे से धोकर को पर्याप्त रूप में पकाएं फिर इसे जल्दी ही खा ले आप इसको 40 मिनट के अंदर अंदर इस्तेमाल कर ले लंबे समय यदि रखा जाता है तो इसने कई जहरीले पदार्थ पनप जाते हैं जो भोजन को पकाने से भी खत्म नहीं होते हैं इसलिए प्रत्येक चीज को अच्छे से धोएं और पकाने के बाद जल्दी ही खा ले आप फ्रिज में लंबे समय तक भोजन ना रखें यह खतरनाक हो सकता है

दूषित भोजन से बचने के लिए किचन में क्या सावधानियां रखें

किचन में आप सावधानियां जरूर बरतें इससे आपका परिवार स्वस्थ रहेगा।

  • हर बार खाना बनाने के बाद किचन और गैस स्टोव को अच्छी तरह से साफ कर दें।
  • जब भी बाहर से सब्जियां और फल लाएं फ्रिज में रखने से पहले अच्छी तरह जरूर धो लें।
  • जूठे बर्तन और खाने के अवशेष किचन में ज्यादा देर तक न रखें कूड़ा ढके हुए बैग में रखें।
  • परिवार में बच्चे से लेकर बड़े तक सब की आदत लगाएं कि अपनी खाने की प्लेट खुद धोएं।
  • खाना कभी भी खुले में ना रखें खाना बनने के 40 मिनट के अंदर खा लेना सबसे अच्छा है।
  • खाने को लंबे समय के लिए फ्रिज में ना रखें।

अमेरिका के कॉलेज ऑफ़ एग्रीकल्चर फूड एंड एनवायरमेंट में एसोसिएट एक्सटेंशन प्रोफेसर रेनफ्रो कहते हैं, अपने किचन में हर चीज यह मानकर इस्तेमाल कीजिए कि वह प्रदूषित है आप हमेशा स्वस्थ रहेंगे यह कहते हैं सब्जी या मांस मछली पकाने से पहले अच्छी तरह धोएं उसके बाद उन बर्तनों को भी तुरंत धो लें जिनमें इन्हें धोया गया है।

निष्कर्ष

दूषित भोजन करने से बहुत सी बीमारियां हो जाती हैं उन सब से बचने के लिए जरूरी है कि आप यूरोपियन लाइफस्टाइल को ना बनाएं सिंक में जूठे बर्तन ना रखें क्योंकि सबसे ज्यादा बैक्टीरिया वही पनप रहे हैं खाने को भी लंबे टाइम रखकर ना खाएं ताजा बनाएं ताजा खाएं तो आप इन चीजों से बच सकते हैं क्योंकि दूषित भोजन बहुत सी बड़ी बीमारियां भी कर देता है जैसे गर्भपात किडनी फेल आदि इन सब से बचने का बस एक ही उपाय है कि किचन में पूरी सावधानी बरतें किचन में हर चीज यह मानकर इस्तेमाल करें कि वह प्रदूषित है।

Disclaimer :-

इस Website पर दी गई जानकारी केवल सामान्य ज्ञान के उद्देश्यों के लिए है और यह पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं है। चिकित्सीय स्थिति के संबंध में आपके किसी भी प्रश्न के लिए हमेशा किसी योग्य स्वास्थ्य प्रदाता की सलाह लें। इस Website पर आपने जो कुछ पढ़ा है, उसके कारण पेशेवर चिकित्सा सलाह की अवहेलना न करें या इसे प्राप्त करने में देरी न करें। इस Website पर निहित जानकारी “जैसा है” आधार पर प्रदान की जाती है

Click Here to Read More…

Q.1 क्या दूषित भोजन की वजह से गर्भपात हो जाता है

हां दूषित भोजन यदि गर्भवती स्त्री करती है तो उसके गर्भपात होने की संभावना बहुत बढ़ जाती है लिस्टेरिया मोनोसाइटोजेनेस नामक बैक्टीरिया की वजह से गर्भपात हो जाता है जोकि दूषित भोजन में पाया जाता है।

Q.2 भोजन को कितने समय में खा लेना चाहिए

भोजन बनाने के 40 मिनट के अंदर आप भोजन को खा सकते हैं उसके बाद भोजन के दूषित होने की प्रोसीजर शुरू हो जाती है इसलिए भोजन को अधिक देर तक नहीं रखना चाहिए ताजा बनाइए ताजा खाइए।

Q.3 दूषित भोजन से होने वाले रोग कौन कौन से हैं

दूषित भोजन से डायरिया, उल्टी, पेट में मरोड़, जोड़ों में दर्द, आलस, थकान की समस्या, सांस लेने में दिक्कत, किडनी में प्रॉब्लम, गर्भपात की समस्या, लिवर में इन्फेक्शन आदि हो सकते हैं इनसे आप जहां तक हो सके बचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *