सर्दी खांसी में राहत पाने के घरेलू नुस्खे कौन-कौन से हैं

सर्दी जुकाम में राहत पाने के घरेलू नुस्खे कौन-कौन से हैं

दुनिया का सबसे बड़ा औषधि केंद्र हमारा रसोईघर है रसोई दुनिया का सबसे पवित्र स्थान है यहां बहुत से घरेलू नुस्खे उपलब्ध हैं हर समस्या के लिए आप डॉक्टर के पास जाएं यह जरूरी नहीं है

सामान्य रूप से ठंड लगने का कारण वायरल इनफेक्शन बैक्टीरियल इनफेक्शन होता है हर बदलते मौसम के साथ यह समस्या जरूर आती है अतः जरूरी है कि आपके शरीर की इम्यूनिटी अच्छी हो और इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आपको अपने खान-पान और व्यायाम पर ध्यान देना होगा रोजाना व्यायाम को अपने जीवन का हिस्सा बनाना होगा जिससे हम इन छोटी-मोटी बीमारियों से बचे 

यह एक प्रकार का संक्रामक रोग है सर्दी जुकाम होने पर बार-बार छीके आती हैं और नाक से पानी आता है कभी-कभी बलगम भी आता है और लगातार खांसी होने लगती है सर्दी जुखाम का मतलब है कि आपका कफ बढा हुआ है

सर्दी खांसी और जुकाम होने पर कुछ घरेलू उपाय है जो आपको डॉक्टर के पास जाने से रोकेंगे और आप घर पर ही ठीक होंगे

अदरक, तुलसी, शहद

अदरक तुलसी का रस हल्का गर्म करके उसमें शहद मिलाकर लें पहले अदरक तुलसी के रस को गर्म करने के बाद ही शहद को आप मिलाएं इसको पहले ना मिलाएं क्योंकि शहद को कभी भी गर्म नहीं किया जाता है यह सब मिलाकर एक बार में एक चम्मच से ज्यादा ना लें इसको सुबह खाली पेट ले दोपहर को लें तथा शाम को खाने के बाद लें

निश्चित रूप से यह आपको सर्दी खांसी में राहत दिलाएगा इसका सेवन रोग प्रतिरोधक क्षमता  को भी बढ़ाता है

सेवन रोग प्रतिरोधक क्षमता  को भी बढ़ाता है

हल्दी व दूध

हल्दी पाउडर 1/4 चम्मच ले स्कोर दूध में डालकर अच्छे से उबाल लें जिससे हल्दी का स्वाद कच्चा ना लगे फिर इसको रात को सोते समय पी ले

इस मिश्रण को पीने से सर्दी जुकाम में बहुत लाभ मिलेगा और रात को नींद अच्छी आएगी यह भी इम्यूनिटी को बढ़ाने में योगदान देता है हल्दी तो वैसे ही बहुत से गुणों की खान है हल्दी की तासीर भी गर्म होती है जो सर्दी  जुकाम और खांसीको तुरंत रोकती है

कच्ची हल्दी के छोटे-छोटे टुकड़े करके उसको दूध में डालें तथा उसको उबालने और फिर उसको आप पी सकते हैं यदि दूध नहीं लेना चाहते तो आप पानी में भी कच्ची हल्दी के टुकड़ों को डालकर उबालने तथा इसको घुट घुट कर के पी ले सर्दी जुखाम और खांसीमें यह बहुत कारगर है कच्ची हल्दी तो और भी ज्यादा फायदेमंद है यह आपको तुरंत ठीक होने में मदद करती है

हल्दी, घी, और दूध

रात में सोते समय एक गिलास दूध में 1/4 चम्मच हल्दी तथा एक चम्मच घी अच्छे से उबालें इसको अच्छे से उबालकर चाय की तरह बना ले तथा इसे आराम से बैठकर पिए यह भी बहुत लाभ देता है तथा इससे पेट भी साफ होता है जब पेट की गंदगी बाहर आती है तो सर्दी जुकाम में राहत मिलती है 

सर्दी जुकाम में राहत

कच्चा लहसुन

रोजाना सुबह उठने के बाद खाली पेट कच्चा लहसुन ले आप सुबह दो कलियां कच्चे लहसुन की चबाकर खाएं और उसके बाद गुनगुना पानी पीले यह बहुत ही कारगर औषधि है कच्चा लहसुन प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में बहुत ही अधिक योगदान देता है अतः इसका सेवन आप जब सर्दी हो जाए तो रोजाना करें इसकी तासीर गर्म होती है अतः यह ध्यान दें की जिसके शरीर में ज्यादा गर्मी हो उसको यह ना दे

आंवले का रस तथा शहद

आंवले के रस को शहद में मिलाकर चाटने से काफी आराम मिलता है इसकी मात्रा आप एक से डेढ़ चम्मच रख सकते है इसको भी आप तीन समय ले सुबह दोपहर और शाम इसके सेवन से खांसी जुकाम में अच्छी राहत मिलती है 

सोठ तथा गाय का दूध

आप आधा चम्मच सोंठ को ले तथा गाय के दूध में मिलाएं तथा अब इसको उबालकर  प्रतिदिन पिए इससे भी सर्दी जुखाम में राहत मिलती है अतः इसका सेवन करें आयुर्वेद में कहां गया है की सूखी हुई अदरक जो बाद में सोठ बन जाती है वह ताजा अदरक से ज्यादा फायदेमंद है इससे सर्दी खासी में बचाव होता है

सर्दी खासी में बचाव

गाय का घी

गाय का घी एक एक बूंद गर्म करके रात में सोते समय नाक में डाल दें इससे बहुत आराम मिलेगा यह माइग्रेन के रोगियों के लिए तथा डिप्रेशन के मरीजों के लिए भी कारगर दवा है यह मस्तिष्क की हर सेल्फ में पहुंचता है तथा साइनस में भी यह बहुत उपयोगी है इसके सिर्फ लाभ ही लाभ है कोई नुकसान बिल्कुल भी नहीं नजरआते है यह रोजाना करें आयुर्वेद में गाय के घी के सेवन के लिए बहुत ही जोर दिया जाता है यह आपकी प्रतिरोधक क्षमता को दुरस्त करता है सर्दी जुखाम में फायदेमंद है

 बकरी का दूध तथा खजूर

आयुर्वेद में बकरी के दूध को बहुत ही लाभकारी माना गया है यह बहुत सी बीमारियों में बकरी का दूध इस्तेमाल किया जाता है अतः जब भी सर्दी जुखाम हो बकरी के दूध में 100 ग्राम खजूर उबालकर खाएं यह जुखाम की सबसे अच्छी दवा है बकरी का दूध खुद में एक औषधि है इसका तो अकेले भी सेवन किया जाए तो वह भी लाभदायक ही है और सर्दी जुकाम और खांसी  में प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है

नीलगिरी का तेल

बहती हुई नाक के लिए नीलगिरी का तेल रामबाण है इसको इस्तेमाल करने के लिए आप उबलते हुए पानी में इसकी दो बूंद मिलाएं तथा इसकी भाप लें आपको तुरंत से लाभ मिलेगा आपको छींके आना बंद हो जाएंगे

नीलगिरी का तेल

सर्दी खांसी में काढ़ा कैसे बनाएं?

आप 2 कप  पानी लें तथा इसमें एक टुकड़ा अदरक का डालें तथा तुलसी, एक लॉन्ग, 1/4 चम्मच अजवाइन, चुटकी भर हल्दी डालें तथा इसको तब तक उबालें जब तक एक कप रह जाए फिर इसको छानकर आराम से पी ले आपको इससे बहुत ही राहत मिलेगी बहती  नाक रुकेगी सर में दर्द होगा तो वह भी रुकेगा तथा बुखार में भी यह सहायक है साथ ही सर्दी खांसी में यह आपको फायदा दिलाएगा

सर्दी खांसी में काढ़ा कैसे बनाएं?

खांसी और जुकाम को तुरंत कैसे ठीक करें?

यदि सर्दी और जुकाम बहुत ज्यादा हो रहा है और आप इसको सहन नहीं कर पा रहे हैं तो एक आसान सा उपाय है जिसको आप करेंगे तो बहती नाक में, खांसी में आराम मिलेगा आप आधा चम्मच हल्दी में एक टुकड़ा अदरक ले दो पत्ते आप तुलसी के लें इन सब को दूध में डालकर अच्छे से उबालें फिर उसके बाद आप छुआरा लें इस छुहारे के साथ आपको दूध तब तक उबालना है जब तक आधे से भी कम ना रह जाए फिर आप इसको पी लीजिए यह सर्दी में बहुत ही असरदार है इससे पेट भी साफ होता है यदि पेट साफ रहेगा तो सर्दी भी जल्दी ठीक होगी

सर्दी होने पर गरारे करें 

सर्दी जुकाम हो जाता है गले में आपको बहुत ज्यादा खराब है तो आपको गुनगुना पानी करके उसमें सेंधा नमक डालें और उससे गरारे करें इससे आपके गले में बहुत ही राहत मिलेगी गले की खराश दूर होगी गले का दर्द भी दूर होगा

सर्दी खांसी होने पर हर्बल चाय ले

सर्दी खांसी होने पर आपको हर्बल चाय का उपयोग करना चाहिए जैसे अब मुलेठी की चाय बना सकते हैं हल्दी की चाय बना सकते हैं मेथी की चाय बना सकते हैं अदरक पूरी ना की जाए बना सकते हैं आप तुलसी की चाय बना सकते हैं यह सब आप बिना दूध बनाएं आप पानी डालकर बनाएं इसको दिन में तीन चार बार ले सर्दी जुखाम में यह बहुत ही लाभकारी है मुलेठी की चाय तो गले को ठीक करती है तथा खांसी में लाभ पहुंचाती है

सर्दी खांसी होने पर हर्बल चाय ले

शहद, नींबू, इलायची

सर्दी हो जाने पर आधा चम्मच शहद में इसमें एक चुटकी इलायची पाउडर मिलाएं और कुछ बूंद नींबू का रस लें इसको दिन में दो बार ले ऐसा करने से भी आप को राहत मिलेगी और आप अच्छा महसूस करेंगे यह सभी ही प्रतिरोधक चीजें हैं जो शरीर की कार्य क्षमता को बढ़ाते हैं

सर्दी खांसी जुकाम में क्या नहीं खाना चाहिए?

जुकाम खांसी होने पर आपको बहुत सी चीजों का ध्यान रखना चाहिए आपको क्या खाना है क्या नहीं खाना है यह ध्यान रखना बहुत जरूरी है कुछ खाने की चीजें हैं जो आपको नहीं खानी चाहिए जब आपको सर्दी खांसी हो जाती है

दही नहीं खाना चाहिए 

ठंडी चीजें नहीं खानी चाहिए

मसालेदार चीजें ना खाएं

तली हुईचीजें ना खाएं

ज्यादा मीठा ना खाएं

बासी खाना ना खाएं

केला ना खाएं

आपको दिन में भी नहीं सोना चाहिए क्योंकि दिन में सोने से कफ ज्यादा बनता है और आपको देर रात तक भी नहीं जागना चाहिए क्योंकि इससे भी कफ ज्यादा बढ़ता है

चावल भी नहीं खाने चाहिए क्योंकि चावल की तासीर ठंडी होती है इसमें कफ बढ़ाने वाले गुण होते हैं

सर्दी खांसी होने पर या गले में इंफेक्शन होने पर चावल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए

खांसी जुकाम में दूध पीने से क्या कफ बनता है?

दूध कफ बनाता है ऐसा मिथक है लेकिन इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है लेकिन आयुर्वेद के अनुसार दूध का रसोई में उपलब्ध कहीं औषधियों के साथ मिश्रण बनाकर इस्तेमाल किया जाना चाहिए जो कि स्वास्थ्य के लिए हितकर है

बहुत सी ऐसी चीजें होती हैं जिनका सेवन यदि आप करेंगे तो सर्दी खांसी की समस्या बढ़ सकती है तो आप ऐसी चीजों का इस्तेमाल ना करें जो ठंडी हो बासी हो जिन की तासीर ठंडी हो सर्दी जुकाम के दौरान गर्म तासीर की चीजों का ही उपयोग करना चाहिए

यदि छाती में कफ जमा हो तो कैसे निकाले?

छाती में अगर कफ जमा हो तो सुबह के समय बिना खाए बहुत सारा गुनगुना पानी पिए जितना आप पी सकते हैं जब पानी आपके गले तक भर जाए तब आप अपने शरीर को 90 डिग्री के कोण पर मोड़ते हुए झुके और पेट को दबाए तो आपको उल्टी आएगी वह सारा पानी बाहर आ जाएगा उसके साथ जो कफ बना है वह भी बाहर आ जाएगा यह बहुत ही कारगर तरीका है इस क्रिया को कुंजन क्रिया कहा जाता है और यह करने से छाती से सारा कफ बाहर आ जाता है इसके बाद आपको गरारे करना चाहिए से आपकी सर्दी खांसी और जुकाम ठीक होंगे

इस प्रकार रसोईघर हमारी ऐसी जगह है जहां पर सारी औषधियां उपलब्ध है हम इनके इस्तेमाल से हर प्रकार की छोटी मोटी बीमारियों को ठीक कर सकते हैं हमारा शरीर स्वस्थ रहें इसके लिए जरूरी है कि हमें अंग्रेजी दवाइयां नहीं खानी चाहिए खांसी जुखाम जैसी छोटी बीमारियों के लिए घरेलू नुस्खे ही कारगर है

तुरंत खांसी से कैसे छुटकारा मिले?

आप मुहे में दांतो के बीच छोटा टुकड़ा अदरक का रख लें वह उसके रस को धीरे-धीरे अपने गले में ले जाते रहे यह आपके गले की खराश को कम करेगा यदि आप यह नहीं ले सकते हैं तो आप अपने मुंह में गुड़ का टुकड़ा भी रख सकते हैं यह भी खांसी को रोकने में समर्थ है और खांसी में आराम दिलाएगा

क्या खांसी में दूध पी सकते हैं?

आपको यदि सूखी खांसी है तो दूध पी सकते हैं लेकिन यदि बलगम वाली खांसी है तो आपको रात को दूध नहीं पीना चाहिए आप यह दूध दिन में पी सकते हैं और दूध को भी खाली ना पीकर उसमें हल्दी व अदरक जरूर डालें जिससे यह आपकी खांसी में राहत देगा

Click Here to Read More…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *