Constipation (कब्ज) से कैसे बचे

बहुत से लोग रोजाना समय पर शौच से निवृत हो जाते हैं लेकिन कुछ लोग time to time शौच से निवृत नहीं हो पाते हैं Constipation होने पर आपका मन अशांत रहता है जब सप्ताह में 3 बार से कम मल का त्याग करते हो तो आप constipation से पीड़ित हो यह किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है लेकिन बड़ी उम्र के व्यक्तियों में यह अधिकतर देखा गया है ऐसे व्यक्तियों में मल त्याग एक chronic issues बन जाता है

Constipation गंभीर कब होता है

जब  मल बहुत hard हो जाए तथा उसका निकलना painful हो जाता है मल त्याग करते समय पेट और anus में भी दर्द हो जाता है एक स्वस्थ इंसान को दिन में दो बार मल त्याग करना चाहिए जिससे पेट साफ रहता है तथा पेट से related कोई भी बीमारी उसको परेशान नहीं करती है तथा ऐसे व्यक्ति को constipation कभी नहीं होता है और वह बहुत सी बीमारियों से बच जाता है लेकिन यदि मल त्याग बहुत लंबे समय से नहीं हो पा रहा हो यदि कुछ महीनों या साल पुराना यह constipation हो जाता है तो यह एक chronic issues में बदल जाता है

Constipation गंभीर कब होता है
Constipation गंभीर कब होता है

कॉन्स्टिपेशन के लक्षण

यह एक ऐसी बीमारी है जिसमें मल पेट में ही जम जाता है खराब खान-पान व सुस्त जीवनशैली की वजह से constipation हो जाता है इसके कुछ लक्षण है जो इस बीमारी को दर्शाते हैं

  • मुंह में छालों का हो जाना
  • सांस में बदबू आने लगती है
  • नाक बहने लगती है
  • चक्कर आने लगते हैं
  • मन शांत रहता है
  • पेट में मरोड़ उठती है
  • सर में दर्द रहने लगता है
  • कमर में दर्द रहने लगता है
  • जुबान मठ मेले रंग की हो जाती है
  • मल सख्त हो जाता है
  • नियमित मल त्याग नहीं किया जाता
  • मल त्याग करने पर जोर लगाना पड़ता है
  • उल्टी की शिकायत होती है
  • पेट में सूजन रहती है
  • बदहजमी हो जाती है
  • आंखों में जलन रहती है
  • चेहरे पर मुंहासे फुंसियां निकल आती हैं
  • बहुत ज्यादा गैस की समस्या हो जाती है
  • एसिडिटी हो जाती है
  • पेट में भारीपन रहता है

Constipation का इलाज संभव है यह कोई ऐसी बीमारी नहीं है जो लाइलाज हो constipation की सही जानकारी होने से उसके उपचार को करने में सहूलियत हो जाती है

Constipation होने के कारण

इसका कारण प्रत्येक व्यक्ति में अलग होता है कई व्यक्तियों का  रोजाना bathroom routine बहुत disturb होता है तथा वे मल त्याग की आवश्यकता को नजरअंदाज करते हैं इस तरह रोज-रोज holding की आदत की वजह से हमेशा constipation बना रहता हैं कब्ज एक आम समस्या बन चुकी है इसकी समस्या होने पर आप नियमित मल त्याग नहीं कर पाते हैं constipation होने के निम्न कारण है

  • कहीं बाहर आंतों में Baul blockers की वजह से भी कचरा बाहर नहीं निकल पाता है पूरी समस्या उत्पन्न हो जाती है
  • कम मात्रा में पानी पीना इसकी वजह है
  • Diet में रेशेदार भोजन का ना लेना
  • मैदा से बने खाने का उपयोग करना
  • भोजन पचने से पहले दोबारा भोजन करना
  • तेलिय पदार्थों का सेवन अत्यधिक करना
  • बहुत ज्यादा tension रखना
  • Harmons imbalance भी constipation का कारण है
  • रात देर में भोजन करना
  • तरल पदार्थों का सेवन ना करना
  • थायराइड का होना
  • दर्द निवारक दवाइयां इस्तेमाल करना
  • व्यायाम ना करना
  • ज्यादा खाना खाना
  • शराब का सेवन करना
  • अत्यधिक उपवास रखना
  • कैल्शियम और पोटेशियम की कमी का होना
  • आंत या लीवर की कोई बीमारी होना
  • चाय या कॉफी का सेवन करना
  • देर रात तक जागना

यह सभी कारण constipation के हैं इन कारणों की वजह से आपकी पाचन प्रणाली सही से काम नहीं कर पाती और कब्ज की शिकायत हो जाती है अतः आप अपने खानपान को अच्छा करें तथा अपनी जीवनशैली को दुरस्त करें आप अधिक से अधिक शारीरिक गतिविधियां करें जिससे आप constipation से बच सकेंगे नहीं तो यह chronic disease का रूप भी ले लेती है

Constipation की वजह से होने वाली परेशानी

  • Constipation होने पर आपका मन अशांत रहता है आप किसी भी काम में अपना मन नहीं लगा पाते कुछ खाने की भी इच्छा नहीं करती जिससे आपका जीवन प्रभावित होता है आप किसी भी काम को ढंग से नहीं कर सकते constipation की वजह से आप अपने जीवन को सुचारू रूप से नहीं चला पाते क्योंकि जब तक पेट ही सही नहीं होगा तो दिमाग भी नहीं चलेगा दिमाग का सीधा connection होता है पेट से अतः पाचन प्रणाली का दुरुस्त होना बहुत ही जरूरी है constipation की वजह से अन्य बीमारियां भी शरीर को घेर लेती हैं और व्यक्ति सुस्त जीवन शैली की ओर आ जाता है
  • Stool सख्त हो जाता है
  • आप मल त्याग आसानी से नहीं कर पाते
  • आपका मन अशांत रहता है
  • बहुत अधिक जोर लगाने की वजह से anus में घाव भी हो जाता है

Constipation को diagnose करवाएं

जब आपको constipation बहुत ही chronic issue बन जाए तो आपको डॉक्टर के पास जाना चाहिए तथा अपनी जांच करवानी चाहिए जिससे पता चल सके की कौन से कारण की वजह से आपको constipation है और डॉक्टर उसका उपचार कर सकें इसके लिए डॉक्टर आप की खून की जांच, एनिमा, कॉलोनिक ट्रांजिट मार्कर स्टीज MRI आदि के द्वारा आपको diagnose किया जाएगा जिससे समय रहते हैं आपका सही से उपचार हो जाएगा

Constipation का treatment

Constipation के ट्रीटमेंट से पहले आपको अपनी लाइफ स्टाइल को बदलना होगा आपको खराब खान-पान से बचना होगा तथा अपनी जीवनशैली में सुधार करना होगा 

  • जुलाब देकर पेट को साफ किया जाता
  • एनिमा दिया जाता है
  • नियमित तौर पर एक्सरसाइज करवाई जाती है
  • Constipation की दवाइयां दी जाती हैं
  • Chronic issues होने पर सर्जरी भी करी जा सकती है

आयुर्वेद के अनुसार कैसे constipation से बचा जाए

आयुर्वेद में बहुत से ऐसे नुस्खे बताए हुए हैं जिनके इस्तेमाल से कब्ज से बिल्कुल निजात मिल सकती है और आप अपनी अच्छी जीवनशैली जी सकते हैं

आंतों को चिकना करें

आप सोने से पहले रात को एक गिलास गर्म दूध में आधा चम्मच घी डालकर रोजाना पिए यदि आप ऐसा रोजाना करते हैं तो constipation में आपको आराम मिलेगा

त्रिफला चूर्ण

अग्नि में गड़बड़ी होने से यह बंद हो जाती है जिसकी वजह से भोजन ठीक से पच नहीं पाता और शरीर का संतुलन बिगड़ जाता है हमारे शरीर का संतुलन वात पित्त कफ दोषों पर निर्भर करता है constipation मुख्यतः वात दोष की वजह से होती है जिससे मल सूखा कठोर हो जाता है और सही समय पर मल त्याग नहीं हो पाता यदि आप रोजाना त्रिफला चूर्ण लेते है तो समय पर मल त्याग होने लगेगा इसके लिए आपको 100 ग्राम हरडे, 200 ग्राम बहेड़ा, 300 ग्राम आमला, इन को पीसकर मिला लें और रोजाना रात को गर्म पानी से लें इसका एक छोटा चम्मच ही लेना चाहिए रात को त्रिफला लेने पर यह रेचक होता है जो कि constipation मिटाता है लेकिन यदि सुबह यह लिया जाए तो यह पोषक हो जाता है

उठते ही क्या करें

उठते ही नींबू को गर्म पानी में मिलाकर पीए यह constipation को खत्म करता है तथा पेट में आराम पहुंचाता है इसको पीने से आंतो में जमा कचरा बाहर आ जाता है

Custor oil (अरंडी का तेल)

Constipation की शिकायत अधिक होने पर आप रोजाना रात को गर्म दूध करके, एक चम्मच अरंडी के तेल को मिलाएं तथा उसको अच्छे से हिला दे और फिर पी जाएं सुबह आपका पेट बिल्कुल साफ हो जाएगा हफ्ते में एक दो बार आप यह कर सकते हैं

जीरा अजवाइन का यूज़

आप जीरा और अजवाइन को भूने और पाउडर बना लें इसको आप काले नमक में मिला ले रोजाना एक चम्मच गर्म पानी के साथ ले यह आपके constipation में आपकी सहायता करेगा और आपके पेट को दुरस्त करेगा

गुड इस्तेमाल कैसे करना है

आप constipation से परेशान हैं तो आप रोजाना गुड को गर्म करके दूध के साथ ले आपको राहत मिलेगी

बेल का फल

बेल का फल खाने से पेट में बहुत आराम मिलता है पेट की गंदगी बाहर आती है और पेट में ठंडक रहती है तथा constipation की प्रॉब्लम जड़ से सही होती है

मुलेठी

आयुर्वेद में मुलेठी एक ऐसी औषधि है जो कहीं बीमारियों में काम आती है मुलेठी के पाउडर को आप गर्म पानी के साथ रोजाना पिए आपको constipation में लाभ मिलेगा

सैर

आप अपने शरीर को जितना सक्रिय रखेंगे उतना ही आप स्वस्थ रहेंगे यदि आप रोजाना घूमने जाते हैं तो आप कभी भी बीमारियों को न्योता नहीं देंगे रोजाना घूमने से शरीर का प्रत्येक अंग एक्टिव होता है जिससे कब्ज की शिकायत भी नहीं होती है तथा आपको कैसी भी दवाइयां लेने की जरूरत नहीं पड़ती

कैसे योग से constipation को दूर करें

कुछ योग ऐसे हैं जिनसे कब्ज को दूर किया जा सकता है जैसे

  • मयूरासन
  • बालासन
  • हलासन
  • पवनमुक्तासन

Constipation ना हो इसके लिए क्या परहेज रखें

Constipation ना हो इसके लिए आपको अपने खान-पान में change करना होगा तथा अपनी जीवनशैली को अनुशासित रखना होगा कुछ चीजें हैं जिनके परहेज से constipation से बचा जा सकता है

  • जिन लोगों को दूध नहीं पता वह दूध से परहेज रखें क्योंकि दूध का स्वास्थ्य पर effect person to person होता है
  • पनीर का यूज ना करें यह पचने में भारी होता है जिसके कब्जे है वह इसे ना लें
  • मैदे से बनी कोई भी चीज का सेवन अपना करें यह आपके लिए बेहद खतरनाक है
  • तेलिय चीजों का यूज बिल्कुल भी ना करें

निष्कर्ष-constipation से बचने के लिए आप नियमित जीवनशैली अपनाएं खानपान की आदतों में सुधार करें तथा खूब पानी पिएं और खूब व्यायाम करें तो आप इसके गंभीर होने से पहले इस बीमारी से बच सकते हैं

Disclaimer :-

इस Website पर दी गई जानकारी केवल सामान्य ज्ञान के उद्देश्यों के लिए है और यह पेशेवर चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार का विकल्प नहीं है। चिकित्सीय स्थिति के संबंध में आपके किसी भी प्रश्न के लिए हमेशा किसी योग्य स्वास्थ्य प्रदाता की सलाह लें। इस Website पर आपने जो कुछ पढ़ा है, उसके कारण पेशेवर चिकित्सा सलाह की अवहेलना न करें या इसे प्राप्त करने में देरी न करें। इस Website पर निहित जानकारी “जैसा है” आधार पर प्रदान की जाती है

Click Here to Read More…

Q.1 कॉन्स्टिपेशन के लक्षण क्या है

जब मल बहुत हार्ड हो जाए तथा उसका निकलना बहुत ही पेनफुल हो जाए और मल त्याग करते समय पेट और अनस में भी दर्द हो जाता है तो समझिए कि ये लक्षण कॉन्स्टिपेशन के है 

Q.2 कॉन्स्टिपेशन होने पर क्या करें

खूब सारा पानी पीएं है तथा रोजाना व्यायाम करें खानपान को अच्छा करें तथा नियमित जीवनशैली अपनाएं एनिमा का यूज़ करें

One thought on “Constipation (कब्ज) से कैसे बचे”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *