HIPAA (Health Insurance Portability and Accountability Act)

HIPAA कैसे कार्य करता है, इसके अंतर्गत क्या आता है

HIPAA को संयुक्त राज्य अमेरिका ने शुरू किया HIPAA की 1996 में शुरुआत की गई इस अधिनियम के अनुसार चिकित्सा विभाग तथा स्वास्थ्य सेवा दाताओं के लिए यह अनिवार्य कर दिया कि वे लोग रोगी की व्यक्तिगत जानकारी को सार्वजनिक नहीं कर सकते यदि वह ऐसा करते हैं यह दंडनीय अपराध की श्रेणी में आ जाएगा

HIPAA क्या करता है

इस के अंतर्गत अस्पताल तथा उनका विभाग रोगी की सहमति के बिना उसकी गोपनीय बात को जनता के बीच सार्वजनिक नहीं कर सकता है यह रोगियों को अधिकार देता है कि चिकित्सा विभाग उनकी निजी जानकारीयो का कैसे उपयोग करता है यह Act रोगियों के हितों की रक्षा करता है

HIPAA में कानून क्या है

इसके मानक कानून में रोगियों को यह जानने में मदद की। कि अस्पताल में स्वास्थ्य सेवा कंपनियां उसकी गोपनीयता बनाए रखती है या नहीं यह कानून रोगियों के अधिकारों की रक्षा करता है

HIPAA में कानून क्या है
HIPAA में कानून क्या है

HIPAA के अंतर्गत क्या है

Health Insurance Portability and Accountability Act  बताता है कि कैसे रोगियों के Medical data को संरक्षित किया जाना चाहिए तथा संयुक्त राज्य भर में इस Data को साझा करते समय किन नियमों का पालन किया जाना चाहिए यह कानून इसलिए बना है कि किसी रोगी के साथ धोखाधड़ी ना हो तथा रोगी की जानकारी का कोई दुरुपयोग ना करें वे लोग रोगी की व्यक्तिगत जानकारी को सार्वजनिक नहीं कर सकते यदि वह ऐसा करते हैं इसको रोकने के लिए यह कानून बनाया गया है जब से यह Act बना है तब से इसमें लगातार संशोधन होते रहे हैं

HIPAA में क्या उल्लेखित है

अमेरिकी सरकार ने इस कानून में संशोधन किया है यह कानून अब स्वास्थ्य बीमा, स्वास्थ्य देखभाल बिलिंग, और ऐसे अन्य क्षेत्रों में भी लागू होगा कोई भी Department जो रोगी के विवरण संपर्क जानकारी उसकी बीमारी की Report आदि के data को रखता है उसको इसके मानकों का पालन करना ही पड़ेगा यदि इन मानकों का पालन नहीं किया जाता है तो संबंधित सभी इकाइयां दंडनीय मानी जाएंगी

HIPAA के मानको की पालना करना कितना मुश्किल है

इस Act  की पालना करना इतना आसान नहीं है क्योंकि यह Digital युग है Fitness monitoring तथाGPS app लोगों की जानकारियों को Store करते हैं अब data की सुरक्षा करना बहुत कठिन हो गया है यह संभालना अब चुनौतीपूर्ण होता जा रहा है

 सन 2009 में HITECH ने इस Act की कार्य क्षमता और समग्र सुरक्षा विकल्पों में सुधार किया सरकार ने HIPAA में कई बार संशोधन करें यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि चयनित कंपनियों को ही HIPAA मानकों का पालन करना चाहिए हालांकि Apple और Fitbit जैसी कंपनियां इस दायरे में नहीं आती है बाकी रोगी की निजी जानकारियों को संग्रहित करने वाली सभी चिकित्सा इकाइयों को HIPAA के नियमों का पालन करना पड़ेगा

यदि भविष्य में इसका संशोधन नहीं होता है तो सरकार के पास मौका है कि HIPAA नियमों के समान एक दूसरा ACT पेश करें यह एक्ट उन कंपनियों के लिए हो जो रोगियों की गोपनीय जानकारी को track व Store करते हैं

निष्कर्ष

यह एक्ट अमेरिका ने शुरू किया और यह है रोगियों की व्यक्तिगत जानकारी को सार्वजनिक नहीं होने देता यह एक रोगियों के हितों के लिए बनाया गया है जिससे उनकी निजी जानकारियां चिकित्सा विभाग या उसके सदस्य कहीं और सांझा ना कर सकेयह दंडनीय अपराध की श्रेणी में आ जाएगा

Click Here to Read More…

Q.1 HIPAA को बनाने की किस देश ने शुरुआत की

संयुक्त राज्य अमेरिका ने को शुरू किया इसको 1996 में बनाया गया यह रोगियों के हितों की रक्षा करता है उनकी निजी जानकारियों को सार्वजनिक होने से रोकता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *