Leopard बेंगलुरु विश्वविद्यालय (Bangalore University)

Leopard at Bangalore University, बेंगलुरु विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रों, कर्मचारियों और शिक्षकों को एक नोटिस जारी किया है, जिसमें उनसे सतर्क रहने और रात में घूमने से बचने का आग्रह किया गया है। परिसर की दीवार पर तेंदुए (Leopard) के चलने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिससे विश्वविद्यालय समुदाय में चिंता पैदा हो गई है।

बेंगलुरु विश्वविद्यालय (Bangalore University) के रजिस्ट्रार ने गुरुवार को जारी एक परिपत्र में रिपोर्टों की पुष्टि की और कहा कि वन विभाग को एक पत्र भेजा गया है जिसमें तेंदुए (Leopard) को पकड़ने और उचित कार्रवाई करने का अनुरोध किया गया है।

यह पहली बार नहीं है जब क्षेत्र में तेंदुए देखे गए हैं। पिछले महीने बेंगलुरु दक्षिण क्षेत्र और तुरहल्ली जंगल के कुछ हिस्से तेंदुए (Leopard) के देखे जाने के कारण दहशत में थे। वन अधिकारियों को संदेह है कि दोनों तेंदुए (Leopard) शहर के बन्नेरघट्टा आरक्षित वन से भटककर तुराहल्ली जंगल और आसपास के इलाकों में चले गए होंगे, जो पास में स्थित है।

वन्यजीव संरक्षण के पास शहरी क्षेत्रों में जंगली जानवरों को देखा जाना असामान्य नहीं है। इस मामले में, यह स्पष्ट नहीं है कि बेंगलुरु विश्वविद्यालय (Bangalore University) में वीडियो में देखा गया तेंदुए (Leopard) पास के संरक्षण का निवासी है या क्या वह अधिक ग्रामीण स्थान से क्षेत्र में भटक गया है।

किसी भी मामले में, व्यक्तियों के लिए सावधानी बरतना और स्थानीय अधिकारियों की सलाह का पालन करना महत्वपूर्ण है जब जंगली जानवरों को आबादी वाले क्षेत्रों में देखा जाता है।

आबादी वाले क्षेत्रों में जंगली जानवरों के देखे जाने की स्थिति में सभी के लिए स्थानीय अधिकारियों की सलाह का पालन करना और आवश्यक सावधानी बरतना महत्वपूर्ण है।

बेंगलुरु विश्वविद्यालय (Bangalore University) प्रशासन छात्रों, कर्मचारियों और संकाय से आवश्यक सावधानी बरतने और आबादी वाले क्षेत्रों में जंगली जानवरों के देखे जाने की स्थिति में स्थानीय अधिकारियों की सलाह का पालन करने का आग्रह कर रहा है। वन विभाग मानव और पशु जीवन दोनों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए भी कदम उठा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *