Hindi Tricks

BLOG के लिए SEO क्यों जरुरी है ? SEO क्या है ?

seo क्या है ? और ये कैसे काम करता है ?
Avatar
Written by Heerey Khan

BLOG के लिए SEO क्यों जरुरी है ?  अपनी वेबसाइट को लोगों तक पहुंचाने के लिए हम SEO का इस्तेमाल करते हैं | मान लीजिए मैंने एक वेबसाइट बना लिया उसमें अच्छे-अच्छे हाई क्वालिटी कांटेस्ट पब्लिक्स कर दिया| लेकिन अगर मैंने SEO का इस्तेमाल नहीं किया तो मेरा वेबसाइट लोगों तक नहीं पहुंच पाएगा और मेरे वेबसाइट का भी कोई फायदा नहीं होगा| अगर हमें SEO का इस्तेमाल नहीं करेंगे | तो जब भी कोई यूजर कोई कीवर्ड सर्च करेगा तो आपके वेबसाइट में उसकी वर्ड से रिलेटेड अगर कोई कांटेक्ट मौजूद है तो यूजर आपकी वेबसाइट को एक्सेस नहीं कर पाएगा | क्योंकि सर्च इंजन हमारे साइड को ढूंढ नहीं पाएगा ना ही हमारे वेबसाइट के कंटेंट को| अपने डेटाबेस पर स्टोर कर पाएगा जिससे आपकी वेबसाइट में ट्रैफिक होना बहुत ही मुश्किल हो जाएगा|

seo क्या है ? और ये कैसे काम करता है ?

 

SEO से ट्रैफिक क्यों जरुरी है ?

अगर आपकी साइट पर 1000 डायरेक्ट ट्रैफिक है और आप रोज का $100 कमाते हो | वही आपके साइट पर अगर 5000 यानी 50%  ट्रैफिक सर्च इंजन से आता हो | तो आप पर एक दिन me $100 से $500 कमा सकते हैं | अब यह बात क्लियर हो गई की वेबसाइट ब्लॉक के लिए सर्च इंजन ट्रैफिक बहुत जरूरी है| सर्च इंजन से ट्रैफिक पाने के लिए आपको SEO को फॉलो करना जरूरी है यानी कि आपकी साइट के लिए सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन मोस्ट इंपोर्टेंट है |

SEO क्या है ? इसको समझना इतना भी मुश्किल नहीं है |अगर आपने इसे सीख लिया तो आप अपने ब्लॉग को बहुत ही बेहतर बना सकते हैं| और उसको वॉल्यूम सर्च इंजन में बढ़ा सकते हैं| SEO क्यों जरुरी है ? को सीख लेने के बाद जब उसका इस्तेमाल आपने ब्लॉक के लिए करते हैं तो आपको उसका रिजल्ट तुरंत नहीं दिखेगा|  इसके लिए आपको सब्र करना पड़ेगा| आपको काम करते रहन होगा | क्योंकि सब्र का फल मीठा होता है और आपकी मेहनत का रंग आपको जरूर दिखेगा |

SEO क्या है ? 

जब हम अपने लिखे हुए articals या पोस्ट को optimization करते है और हर बो तकनीक का इस्तेमाल करते है जिससे search engine जैसे google के पहले पेज यानी 1st पोज़ीसन में रैंक कराते है तो इस टेक्निकल को seo कहते है |

FULL FORM OF SEO [search engine optimization]  डिजिटल मार्केटिंग और इंटरनेट की दुनिया इन तीन शब्दों के ‘SEO’  के ऊपर निर्भर करती है|  बहुत बड़े-बड़े कंपनियां जो अपने प्रोडक्ट ओर सर्विस ऑनलाइन भेजती हैं| वह अपने लाखों रुपए SEO  पर खर्च करती है आखिरी SEO है क्या? अगर आपने भी इसका नाम बार बार सुना है या कहीं लिखा हुआ देखा है या फिर आप इंटरनेट और डिजिटल मार्केटिंग में नए हैं तो यह बर्ड आपको बार-बार सुनने को मिलता है| आज हम आपको बिल्कुल सिंपल भाषा में इसके बारे में बताने वाले हैं अगर आप इस पोस्ट को एक बार ध्यान से पढ़ ले तो आप आसानी से SEO के बारे में जान जाएंगे| 

Google, Bing और Yahoo जैसे सभी search engine में लोगो के content शो होते है और ये लोग एक नही बहुत सारे होते है | पहले इन्टरनेट पर बहुत कम wensote ब्लॉग होते थे लेकिन अब दुनिया का हर तीसरा आदमी इन्टरनेट use करता है | इसलिए इन्टरनेट पर मिलियंस वेबसाइट , ब्लॉग मोजूद है | उन सभी में से search engine उन्ही लोगो की पोस्ट को फर्स्ट रैंक में शो करता है जिनकी पोस्ट search engine फ्रेंडली हो | यानी search engine optimization करके लिखी गई हो |

जिसका सीधा संबंध सर्च इंजन से होता है | SEO एक प्रकार से सर्च इंजन में अपनी वेबसाइट को टॉप पर लाने के रूल होते हैं | ताकि हमारी वेबसाइट पर ट्राफिक इनक्रीस हो सके| अगर आप इन रूल को फॉलो करते हैं तो आपकी वेबसाइट सर्च इंजन में फर्स्ट पेज पर शो होती है| वेवसाइड को फर्स्ट पेज पर लाना इसलिए जरूरी होता है क्योंकि अधिकतर लोगों फर्स्ट पेज पर आने वाली वेबसाइट पर ही पढ़ना पसंद करते हैं और इसके लिए हमें SEO को फॉलो करना पड़ता है|

Conclusion:-  दोस्तों आपको  हमारी आज की पोस्ट कैसी लगी| आज हमने आपको बताया कि BLOG के लिए SEO क्यों जरुरी है ? और SEO क्या है ? उम्मीद है आपको समझ आया होगा और पसंद भी आया होगा| क्योंकि आज हमने सरल भाषा में आपको सही जानकारी बताइए है | जो आपके लिए उपयोगी है| अगर आपको हमारी  आज की पोस्ट पसंद आई हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट के जरिए बता सकते हैं| और इसी प्रकार अन्य जानकारी भी आपको मिल सकती हैं| अगर हमारी इस पोस्ट में कोई गलती हो या कोई कमी हो तो हमें कमेंट के जरिए कमेंट करके बताएं| आपका बहुत-बहुत धन्यवाद होगा|

About the author

Avatar

Heerey Khan

Hello, Friends My Name is Heerey Khan and I am the founder of GyanPress Here on this blog I write about Health, SEO, Hindi Tricks, Make Money Online And WordPress.

Leave a Comment